मुहम्मद शमी को मिला इस खिलाड़ी का साथ, बांद्रा घ’टना पर कही थी…

जहां बॉलीवुड के सितारे सोशल मीडिया पर एक्टिव रह कर लोगों का दिल जीत रहे हैं तो दूसरी तरफ क्रिकेट जगत के खिलाड़ी भी पीछे नहीं हैं। कोरोना वाय’रस के कार’ण लगाए लॉकडाउन में क्रिकेट स्टार भी लोगों को एंटरटेन कर रहे हैं। भारत के बेहतरीन गेंदबाज युजवेंद्र चहल भी टिकटॉक विडियोज़ बना कर अपने फैंस को मनोरंजन प्रदान कर रहे हैं।

युजी कभी अभी विडियोज़ सोशल मीडिया पर शेयर करते हैं तो कभी वह इंस्टाग्राम पर लाइव आकर लोगों का मनोरंजन करते हैं। बता दें कि इसी बीच चहल ने क्रिकेट के एक और धु’आंधा’र गेंदबाज मोहम्मद शमी से इंस्टाग्राम पर लाइव बातचीत की। दोनों ने इस लाइव वीडियो में देश के कई मुद्दों पर बातचीत की जिसमें कोरोना वाय’रस भी शामिल है। लॉकडाउन के दौरान मुंबई के बांद्रा स्टेशन पर जमा हुए मज’दूरों पर भी दोनों ने अपनी राय रखी। साथ ही चहल ने सरकार से इन मज’दूरों की मदद करने की अपील भी की।

Mohammad Shami and Yuzvendra Chahal
चहल की इस बात का मोहम्मद शमी भी सम’र्थन किया। साथ ही मोहम्मद शमी ने देश में लगे लॉकडाउन के बीच अपने साथ हुई एक घटना का भी ज़िक्र किया। मोहम्मद शमी ने बताया कि लॉकडाउन की वजह से बहुत से मजदूर अपने घर जाने के लिए पैदल ही रवाना ही चुके थे। जिसमें से एक शख्स उनके फॉर्महाउस के दरवाजे पर बेहोश हो गया था। जिसके बाद उन्होंने उस शख्स को खाना खिलाया और उसकी आर्थिक रूप से मदद भी की।
उन्होंने बताया कि वह शख़्स पैदल ही मुंबई से बिहार जाने के लिए रवाना हो चुका था। साथ ही इस सेशन में मोहम्मद शमी ने यह भी खुला’सा किया कि देश के इस मुश्किल समय में उन्होंने गरीबों की मदद के लिए चावल भी दान कर रहे हैं। बता दें कि पूरे भारत में कोरोना वाय’रस का संक्रम’ण बड़ी तेज़ी से बढ़ रहा है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के ताज़ा मामलों के अनुसार देश में कोरोना वाय’रस से संक्र’मित लोगों का आंकड़ा बढ़ कर 11933 हो गया है। साथ ही पूरे भारत में इस वाय’रस से 392 लोगों की मौ’त हो चुकी है। बीते चौबीस घंटो की बात करें तो देश में बीते चौबीस घंटो में 1118 नए मामले सामने आए हैं, वहीं 39 लोगों की जान भी जा चुकी है। इसके साथ ही भारत में कोरोना वाय’रस से ठीक होने वालों की संख्या 1344 है।

इरफ़ान पठान ने सोश’ल मी’डिया पर शेयर किया ज़ब’रदस्त वीडियो, ‘अब ये धं’धा भी गंदा हो रहा है..’

कोरोना वाय’रस के कार’ण लॉकडाउन की वजह से बॉलीवुड सितारों के साथ साथ क्रिकेट जगत के खिलाड़ी भी आजकल सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं। इस लॉकडाउन में क्रिकेट स्टार भी अपनी तरह से लोगों को एंटरटेन कर रहे हैं। भारत के बेहतरीन गेंदबाज युजवेंद्र चहल भी टिकटॉक विडियोज़ बना कर अपने फैंस को मनोरंजन प्रदान कर रहे हैं। युजी कभी अभी विडियोज़ सोशल मीडिया पर शेयर करते हैं तो कभी वह इंस्टाग्राम पर लाइव आकर लोगों का मनोरंजन करते हैं।

इसी तरह भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व क्रिकेटर और कमेंटेटर इरफान पठान भी एक्टिव नजर आ रहे है। वह कभी अपने पिता के साथ क्रिकेट खेलते हुए विडियोज़ पोस्ट कर रहे हैं तो कभी अपने बड़े भाई युसुफ पठान के साथ वीडियो बनते नजर आ रहे हैं। लेकिन इस बार इरफान पठान ने सोशल मीडिया पर ऐसा वीडियो साझा किया है जिससे लोग उनकी तारीफ करते नहीं थक रहे हैं। साथ ही उनके इस वीडियो को बहुत पसंद किया जा रहा है।

वीडियो में इरफान पठान कहते दिखाई दे रहे हैं कि “जब से दुनिया बनी है तब से ध’र्म के नाम पर धं’धा हो रहा है, पर अफसोस की बात यह है कि अब तो समझदार भी अंधा हो रहा है। कुछ ही लोगों ने बनाया था धर्म को धं’धा, अब तो यह धं’धा भी गंदा हो रहा है, ल’ड़ोगे तुम और फायदा उठाएगा कोई और, सुध’र जाओ इंसानों अब तो वक्त भी तुम्हारे पास कम हो रहा है।” बता दें कि इरफान पठान और उनके भाई युसुफ पठान ने कोरोना वाय’रस से छि’ड़ी इस जं’ग में 4000 मास्क दान कर अपना योगदान दिया है।
इस वीडियो में इरफान पठान ने यह भी जानकारी दी कि उन्होंने और उनके भाई ने अपने पिता द्वारा संचालित महमूद खान पठान चैरिटेबल ट्रस्ट के नाम पर मास्क खरीदे। उन्होंने कहा कि यह मास्क वडोदरा स्वास्थ्य विभाग को दिए गए हैं जो जरूरतमंदो में बांट देगा। बता दें कि भारत में कोरोना वाय’रस का संक्र’मण तेज़ी से बढ़ता ही जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के ताज़ा आंकड़ों की बात करें तो भारत में अभी तक संक्र’मित लोगों की संख्या 12759 हो गई है। बीते चौबीस घंटों में कोरोना वाय’रस के 826 नए मामलों की पु’ष्टि हुई है और साथ ही 28 लोग अपनी जान गंवा बैठे हैं। देश में कोरोना वाय’रस से कुल 420 मौ’तें हो चुकी हैं। साथ ही 1515 लोगों से कोरोना वाय’रस से ठीक हो कर जीत हासिल की है।

इतने सालों बाद भारत के इस दि’ग्गज खिलाड़ी ने खोला अपनी शान’दार पारी का रा’ज..

भारतीय क्रिकेट टीम के बेहतरीन विकेट कीपर और बल्लेबाज़ दिनेश कार्तिक ने अपनी शानदार पारी का खुला’सा किया है। दिनेश कार्तिक जो धु’आंधा’र बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं, उन्होंने इन तीन चार सालों में अपनी बल्लेबाजी में और सुधा’र लाने की कोशिश की है। जोकि उनकी पारी से साफ जाहिर भी होता है। उनकी शानदार बल्लेबाजी देखकर पूरी दुनिया के क्रिकेट के फैंस हैरा’न हो गए। साल 2018 में दिनेश कार्तिक ने ऐसी ही एक पारी खेली जिसके कारण क्रिकेट प्रेमियों में उन्होंने अलग पहचान बनाई, जिसका उन्हें बहुत फायदा भी हुआ।

बता दें कि साल 2018 के टी20 सीरीज में भारत का बांग्लादेश के साथ फाइनल मुकाबला था। जिसमें बांग्लादेश ने भारत को 167 रनों का टारगेट दिया था। इस मुकाबले की शुरुआत रोहित शर्मा ने अपनी शानदार पारी से की। लेकिन रोहित शर्मा का विकेट गिरने के बाद सभी खिलाड़ी फैल हो गए और भारत ने लगातार अपने विकेट गवाएं। भारत ने 18 ओवर में 133 रन बनाए थे और 5 विकेट गंवा दिए थे। जिसके बाद जीतने के लिए भारत को दो ओवर में 34 रन बनाने थे। दर्शकों ने जीतने की सारी उम्मीद छो’ड़ दी थी, लेकिन फिर दिनेश कार्तिक ने अपना जलवा दिखाना शुरू किया। दिनेश कार्तिक के रुबेल हुसैन के 19वें ओवर में 22 रन बनाए। साथ ही सौम्य सरकार के आखिरी ओवर में आखिरी गेंद में जीत के लिए भारत को पांच रन चाहिए थे जिसके बाद दिनेश कार्तिक ने शानदार छ’क्का लगा कर भारत को जीत दिलाई।

Dinesh Kartik

दिनेश कार्तिक ने अपनी पारी के प्लान का खुला’सा करते हुए कहा कि “निश्चित ही मेरे पास योजना थी। यह ऐसी स्थिति है, जहां प्रैक्टिस मदद करती है। आप बार-बार किसी बात का अभ्या’स करते हो और ऑटोमोड में आ जाते हो। जब आपको बैटिंग के लिए जाते हुए पता होता है कि आपको किस बात की जरूरत है, तो इसे प्रा’प्त करने के आसार बेहतर होते हैं।” कार्तिक ने कहा कि “जब बैटिंग के लिए गया तो हालात ने मुझे तैयार किया कि मुझे क्या हासिल करने की जरूरत है। और यहीं से प्रोग्रा’मिंग जैसी कोई बात हुई। मसलन बॉलर कहां गेंद फेंकेगा और कौन से स्टैंड और किस गैप से मुझे शॉट खेलना है। अगर बतौर फिनिशर आप लगातार बेहतर करना चाहते हो, तो किसी को भी ऐसे ही सोचना होगा। और कुछ ऐसे ही मैंने भी अपनी बैटिंग की प्रोग्रा’मिंग की।”

युवराज ने लगातार 6 छक्के लगाने को लेकर किया बड़ा ख़ुलासा, सौरव गाँगुली ने की थी..

वर्ल्ड क्रिकेट इतिहास में टीम इंडिया के लिए साल 2007 काफी खास रहा था। भारतीय क्रिकेट फैन्स 19 सितंबर 2007 का दिन कभी नहीं भूल सकते। इसी दिन युवराज सिंह ने इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड के एक ओवर में छह छक्के जड़े थे। 2007 में दक्षिण अफ्रीका में खेले गए आईसीसी वर्ल्ड टी20 में भारत और इंग्लैंड के बीच मैच 19 सितंबर को खेला गया था।

इन छह छक्कों के पीछे की कई कहानियां सामने आ रही है, कहा जा रहा था कि युवराज सिंह और एंड्रयू फ्लिंटॉफ के बीच बह’स हुई थी, जिसका गु’स्सा युवराज सिंह ने ब्रॉड के ओवर में निकला था। लेकिन अब पहली बार ऐसा हुआ है जब युवराज सिंह ने खुद चुप्पी तो’ड़ ब’ड़ा खुला’सा किया है। युवराज सिंह ने अपने छह छक्कों का खुला’सा करते हुए कहा है कि उनके छह छक्के लगाने के बाद लोगों ने उनके बल्ले को लेकर कई सवाल उठाए थे।

Yuvraj Singh
युवराज ने निजी चैनल से बातचीत के दौरान कहा कि पूर्व कंगारू विकेटकीपर एडम गिलक्रिस्ट ने उनकी इस पारी पर शक किया था। युवराज ने कहा कि “उस समय ऑस्ट्रेलियाई टीम के कोच मेरे पास आए और पूछा कि क्या मेरे बैट के पीछे फाइबर लगा है और क्या नियमों के हिसाब से वैध है? क्या मैच रेफरी ने इसको चेक किया है?” बता दें कि युवराज सिंह ने इस सेमीफाइनल मुकाबले में खेली गई उनकी 30 गेंदों पर 70 रन की पारी खेली थी।
युवराज ने कहा कि “ऐसे में मैंने उनसे यह चेक कराने को कहा। यहां तक कि गिलक्रिस्ट ने भी मेरे से यह पूछा कि कौन सी कंपनी मेरा बल्ला बनाती है। ऐसे में मैच रेफरी ने भी मेरे बल्ले को चेक किया था, लेकिन ईमानदारी से कहूं, तो वह बल्ला मेरे लिए बहुत ही महत्वपू’र्ण था।” युवराज सिंह ने बताया कि साल 2011 और उनका बल्ला उनके लिए बहुत अहम हैं। बातचीत के दौरान युवराज सिंह ने बीसीसीआई अध्य’क्ष सौरव गांगुली की तारीफ भी की। उन्होंने कहा कि सौरव गांगुली ने युवा खिलाड़ियों को तलाशा है और उन्हें आगे भी बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि सौरव गांगुली सभी भारतीयों में उनके पसंदीदा कप्तान रहे हैं।